बच्चें की मेमरी और ब्रेन पावर कैसे बढ़ाये | Memory Power Increase Tips In Hindi


Memory Power Increase Tips In Hindi

बच्चें की मेमरी और ब्रेन पावर कैसे बढ़ाये  | Memory Power Increase Tips In Hindi

आज कल के माता-पिता अपने बच्चों का भविष्य उज्ज्वल बनाने के लिये उसे हर वो चीज दे रहे है जिसकी उन्हें जरुरत हो.लेकीन उनके भविष्य के लिये स्वस्थ शरीर के साथ स्वस्थ मस्तिष्क के लिये उनके बचपन से ही हमें कुछ खास बातो पर ध्यान रखना होंगा. तो आइए जाने की कौनसी खास बातो पर ध्यान देकर हम अपने बच्चो को बेहतर दिमाग और याददाश्त दे सकते है. / Improve Your Child Memory & Brain Power

1) धुम्रपान से दूर रखना – धुम्रपान यानी स्मोकींग सभी के लिये मतलब जो व्यक्ती स्मोकींग करता है उसके लिये और उसके आसपास के लोगों के लिये बहोत हानिकारक है. बच्चो पर किये गये शोध के अनुसार जो बच्चे स्मोकींग करने वाले लोगों के संपर्क में आते है उनके मस्तिष्क पर उस धुम्रपान से उठने वाले धुवे से बहोत बुरा असर पड़ता है. उनकी IQ 90 से कम हो जाती है. इससे उनके याददाश्त पर भी बुरा असर होता है. इसलिये अपने बच्चो को धुम्रपान से दूर रखे.

2) संगीत सखिना – भारत में संगीत को भगवान की मतलब सरस्वती माँ की उपसना के समान माना जाता है. संगीत बच्चों से लेकर बड़ों तक सभी के लिये फायदे मंद है. संगीत सुनने और सीखने से मन को शांती मिलती है. इसलिये यदी बच्चों को बचपन से ही संगीत की शिक्षा दी जाये तो उनके मस्तिष्क का विकास बेहतर होता है संगीत से बच्चों की एकाग्रता (concentration) और IQ दोनों बढ़ जाते है.

3) पति -पत्नी के आपसी संबध – बच्चों पर सबसे ज्यादा असर होता है उसके आसपास के वातावरण का घर मे वातावरण कैसा है उस पर बच्चो का शारीरिक और मानसिक विकास होता है. खास कर उनके माता-पिता का आपसी संबध से बच्चों का मानसिक विकास प्रभावित होता है. इसलिये परिवार में ज्यादा हँसी खुशी का माहौल हो तो बच्चो का तन-मन का संपूर्ण विकास होता है.

4) किताबे पढ़ना – मानसिक विकास होने के लिये किताबें पढ़ना उतनाही महत्त्वपूर्ण है जितना की बाकी चिजे. कहते है की किताबे मनुष्य की सबसे अच्छे दोस्त होती है. अगर हम अपने बच्चों को बचपन से ही किताबे पढ़ने की आदत डाले तो उनकी एकाग्रता भी बढेंगी और उनके ज्ञान में वृद्धी आयेंगी.

5) अच्छा खाना (पौष्टिक खाना) – आजकल बच्चो को बाहर चिजे जैसे – पिझ्झा, बर्गर, समोसा, चॉकलेट, चिप्स ऐसी चिजे ही पसंत आती है लेकिन इनके पौष्टिकता कुछ भी नहीं होती इसलिये उन्हें घर के पौष्टिकता से भरे खाने की बचपन से आदत डाले इससे उनका संपूर्ण विकास होंगा. और बाजार में शारीरिक और मानसिक विकास के लिये Horliks, bornvita जैसे प्रोडक्ट भी उपलब्ध है.

इन सभी चीजो का ध्यान रख के हम अपने बच्चों का शारीरिक और मानसिक विकास करके उनका भविष्य और भी उज्ज्वल बना सकते है.

अगर आपको हमारा Memory Power Increase Tips In Hindi लेख अच्छा लगा तो जरुर हमें कमेन्ट के माध्यम से बताएं. और Facebook पर लाइक करके हमसे जुड़ें. धन्यवाद