डायबिटीज (मधुमेह) के लक्षण | Symptoms of Diabetes

आज बहुत ज्यादा लोग डायबिटीज की बीमारी से जूझ रहे है। शुरू में ही डायबिटीज के लक्षणों को समझना बहुत जरुरी होता है क्योकि ऐसा करने से आपको इलाज के लिए भी खासा समय मिल जाता है। यदि निचे दिए गये लक्षणों में से कोई एक भी लक्षण यदि आपमें आप देख रहे हो तो तुरंत अपने डॉक्टर से संपर्क करे। डायबिटीज के प्रारंभिक लक्षण - Symptoms of Diabetes बहुत सूक्ष्म हानिरहित होते है। समय के साथ-साथ आपकी उलझने बढ़ने लगती है, लेकिन आपको इस बारे में कभी पता भी नहीं चल पाता।

डायबिटीज (मधुमेह) के लक्षण - Symptoms of Diabetes


Symptoms of Diabetes

थकान:

आपको थकान भी महसूस हो सकती है। इसमें दूसरी चीजो का भी समावेश हो सकता है। इनमे पेशाब के बढ़ने से हुआ निर्जलीकरण भी शामिल है और इससे आपका शरीर कुछ कार्य सुचारू रूप से नही कर पाता। ऐसी परिस्थिति में आपका शरीर उर्जा पाने के लिए बहुत कम शुगर का उपयोग कर पाता है।

अत्यधिक प्यास और पेशाब का बढ़ना:

अत्यधिक प्यास और पेशाब का बार-बार आना साधारणतः डायबिटीज के सामान्य लक्षण है।

जब आपको शुगर होती है तब आपके खून में अत्यधिक शुगर का निर्माण होने लगता है। ऐसी परिस्थिति में आपको किडनी को जबरदस्ती ज्यादा समय तक शुगर को फ़िल्टर और सोखने का काम करना पड़ता है। यदि आपकी किडनी इसे नही रख सकती तो वह शुगर मूत्र में बहा दी जाती है या तो आपके ऊतको में से कुछ तरल पदार्थ इन्हें खीच लेते है। इसी वजह से आपको बार-बार पेशाब आने लगती है, जो आपको निर्जलीकृत भी कर सकती है। ऐसी परिस्थिति में जैसे-जैसे आप अपनी प्यास को बुझाने के लिये ज्यादा तरल पदार्थ का सेवन करोगे, वैसे-वैसे आपको ज्यादा पेशाब लगने लगेगी।

धुंधला दिखाई देना:

डायबिटीज के लक्षणों में आपको दृष्टी भी शामिल है। ब्लड में जब उच्च मात्रा में शुगर पायी जाती है तो यह आपके ऊतको में से तरल पदार्थ को खिंच लेती है, जिनमे आपकी आँखों ले लेंस भी शामिल है। इससे आपकी देखने की क्षमता प्रभावित होती है।

वजन कम होना:

वजन का लगातार कम होना भी डायबिटीज के लक्षणों में से ही एक है। जब आप मूत्र के माध्यम से शुगर का त्याग करने लगते हो तब आप अपने शरीर की कैलोरीज भी खोने लगते हो। उसी समय, डायबिटीज आपकी कोशिकाओ तक पहुचने के लिए आपके खाने में से शुगर को निकाल लेता है – और इससे आपको लगातार भूख लगने लगती है। इसके परिणाम स्वरुप अचानक ही आपका वजन कम होने लगता है, विशेषतः डायबिटीज के पहले प्रकार में हम इस तरह के लक्षण देखने मिलते है।

हाथ और पैर में झुनझुनी होना:

खून में शुगर की मात्रा बढ़ने से नसों को क्षति भी पहुच सकती है। ऐसी परिस्थिति में आपके हाँथ और पैरो में झुनझुनी या सनसनी भी हो सकती है, साथ ही आपके हाँथ, पैर और तलवो में भयानक दर्द भो हो सकता है।

मसुडो का लाल होना एवं सूजना:

डायबिटीज में आपके शरीर की रोगाणुओं से लढने की क्षमता भी कम होने लगती है। जो आपके मसुडो में होने वाले इन्फेक्शन के खतरे को बढावा देते है और साथ ही उन हड्डियों को भी कमजोर बनाते है जिनमे आपके दाँत लगे हुए होते है। हो सकता है की आपके दाँतो से रोगाणु बाहर निकल आए और आपके दाँत कमजोर हो जाए। इसीलिए यदि आपमें ऐसे कोई लक्षण दिखाई देने लगे तो समझ जाइये की आप डायबिटीज की कगार पर है।

अपने शरीर के संकेतो को गंभीरता से ले:

यदि आप अपने शरीर में उपर दिए गये लक्षणों में से कोई भी लक्षण देखो तो तुरंत अपने डॉक्टर के पास जाए। जितनी जल्दी आप परिस्थिति को पहचान लोंगे, उतनी जल्दी आपका इलाज हो सकेंगा। डायबिटीज एक गंभीर बीमारी है। लेकिन आपके सक्रीय सहभाग से और आपके डॉक्टर की सहायतासे आप डायबिटीज से जल्द ही छुटकारा भी पा सकते हो और एक सुखी जीवन का आनंद ले सकते हो।

Read More:

अगर आपको हमारा डायबिटीज (मधुमेह) के लक्षण / Symptoms of Diabetes लेख अच्छा लगा तो जरुर हमें कमेन्ट के माध्यम से बताएं. और Facebook पर लाइक करके हमसे जुड़ें. धन्यवाद

1 comment:

  1. बहुत अच्छी पोस्ट लिखी है। काफी उपयोगी जानकारी है। इतना अच्छा article share करने के लिए धन्यवाद।

    ReplyDelete